Captcha code kya hai ।। What is captcha code ।। Recaptcha code kya hai ।।

4
2229

दोस्तों क्या आपने कभी सोचा है कि जब भी आप इंटरनेट पर जाने किसी वेबसाइट पर सर्फिंग करने जाते हैं चाहे वह ऑनलाइन फॉर्म भरना हो या किसी प्रकार का बिल पेमेंट हो या फिर कुछ और तो आपको एक Captcha Code दिखाई देता है तो यह Captcha Code क्या है तथा यह क्यों दिखाया जाता है? यह सभी प्रश्न आपके मन में जरूर आएं होंगे जैसे मेरे मन में आ रहे हैं।

Captcha Code का प्रयोग अधिकतर ऐसी जगहों पर किया जाता है जहां किसी I’d, Password की मदद से लॉगिन करना होता है जैसे कि जब आप इंडियन रेलवे में ऑनलाइन टिकट बुकिंग के लिए साइट ओपन करते हैं या फिर PNR चेक करने के लिए तब आपको एक Captcha Code साल्व करना होता है। इसमें लोग बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं क्योंकि Captcha में स्मॉल, कैपिटल लेटर और नंबर्स का मिश्रण होते हैं। Captcha Code सुरक्षा के दृष्टिकोण से किसी भी वेबसाइट पर लगाया गया होता है।

आज के इस लेख में आपको Captcha Code Kya hai के बारे में तो जानकारी मिलेगी ही साथ ही साथ हम आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताएंगे जिनसे आप बेहद आसान और कुछ ही समय में कैप्चा को सॉल्व कर सकते हैं आज तक ऐसी कोई टेक्नोलॉजी नहीं बनी है जो कैप्चा को ऑनलाइन साल्व कर सके यानी। Captcha Code एक प्रकार का सिक्योरिटी पासवर्ड होता है जिसे किसी मनुष्य द्वारा ही तोड़ा या खोला जा सकता है किसी कंप्यूटर या बोट द्वारा नहीं।

Captcha Code किसी थर्ड पार्टी वेबसाइट द्वारा नहीं दिखाया जाता कैप्चा कोड गूगल का ही एक टूल होता है जिसे आप यानी डेवलपर अपनी वेबसाइट पर लगाते हैं। सिक्योरिटी के उद्देश्य से या फिर कुछ लोग इसलिए भी अपने वेबसाइट पर लगाते हैं कि यूजर ज्यादा देर तक उनकी वेबसाइट पर रुके।Captcha Code को सॉल्व करना बेहद आसान होता है।कैप्चा कोड को इस प्रकार से लिखा जाता है कि उसे किसी भी कैरेक्टर रीडर जैसे MICR ,OMR द्वारा रीड नहीं किया जा सके उसे केवल मनुष्य की आंखों द्वारा ही पढ़ा जा सकता है।

आज के टाइम में सभी को Captcha Code सॉल्व करना आना चाहिए क्योंकि आप कहीं भी इंटरनेट पर ऑनलाइन सर्फिंग के लिए या ऑनलाइन पेमेंट के लिए जाते हैं। तो आपको Captcha Code सॉल्व करना होता है इसलिए आपको कैप्चा कोड भरना आना चाहिए आज के इस लेख में हम आपको Captcha Code Kya hai तथा कैप्चा कोड का इस्तेमाल क्यों किया जाता है और Captcha Code का फुल फॉर्म क्या है के बारे में डिटेल में बताने वाले हैं इसलिए इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें।

CAPTCHA Code का फुल फॉर्म क्या है?

कैप्चा कोड का फुल फॉर्म कंप्लीट ऑटोमेटेड पब्लिक टयूरिंग टेस्ट टू कंप्यूटर्स एंड ह्यूमन पार्ट्स (Complete automated public Turing test to tell computers and human aparts) होता है। कैप्चा कोड किसी भी वेबसाइट में सिक्योरिटी के उद्देश्य से लगाया जाता है कैप्चा कोड के द्वारा ही गूगल बोट और रियल यूजर के बीच फर्क कर पाता है।

CAPTCHA Code क्या है

कैप्चा कोड को हम एक सिक्योरिटी टूल कह सकते हैं जोकि गूगल द्वारा दिया गया है कैप्चा कोड को किसी भी वेबसाइट में लगाने पर या मोबाइल एप्लीकेशन में लगाने पर गूगल को Real user और boat user यानी कंप्यूटर आधारित फेंक यूजर्स को पहचानने में मदद मिलती है। CAPTCHA Code की मदद से ही गूगल समझ पाता है कि किसी वेबसाइट पर विजिट किया गया यूजर एक मनुष्य है या फिर बोट। अभी तक बहुत सारी टेक्नोलॉजी डेवलप हो चुकी हैं जो विभिन्न प्रकार के सिक्योरिटी पासवर्ड को तोड़ सकती हैं। लेकिन अभी तक ऐसी कोई भी टेक्नोलॉजी विकसित नहीं हो पाई है जो CAPTCHA Code को सॉल्व कर सके बिना मनुष्य की मदद के, कैप्चा कोड को केवल मनुष्य ही सॉल्व कर सकता है।

इसलिए अगर सीधे शब्दों में बात की जाए कि Captcha Code क्या है तो आप बिल्कुल कह सकते हैं कि यह एक प्रकार का विशेष सिक्योरिटी फीचर होता है जो मनुष्य की आंखों द्वारा ही देखकर सॉल्व किया जा सकता है। किसी स्केनर या रीडर की मदद से नहीं। Captcha Code में अंग्रेजी के capital letters, small letters को तथा गणित के numbers शामिल होते हैं जो कि बेहद भद्दे रूप में लिखे होते हैं।

Captcha Code हमें किसी वेबसाइट में कमेंट करते समय, किसी सरकारी वेबसाइट में ऑनलाइन फॉर्म भरते समय ,कोई पेमेंट करते समय इन स्थितियों में दिखाया जाता है। Captcha Code दिखाने का मुख्य उद्देश्य रियल यूजर और आर्टिफिशियल यूजर के मध्य अंतर करना होता है। इसके अलावा कैप्चा कोड का कोई मतलब नहीं होता और कोई दूसरा उद्देश्य भी नहीं होता है।

CAPTCHA CODE का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

दोस्तों कैप्चा कोड का इस्तेमाल उन साइट्स पर ज्यादा किया जाता है जहां पर हाई रिस्क होते हैं हैकिंग के यानी कि पॉपुलर साइट्स पर कैप्चा कोड का उपयोग किया जाता है। कभी-कभी क्या होता है कि हैकर्स लाखों करोड़ों की संख्या में boats बनाकर उन साइट्स पर भेजते हैं और अगर कैप्चा नहीं होता है तो सीधे साइट पर अटैक कर देते हैं। लेकिन अगर कैप्चा लगा हुआ होता है तो वेबसाइट पर अटैक नहीं कर पाते क्योंकि वह कैप्चा को सॉल्व नहीं कर सकते।

इसलिए हाई रिक्स या पॉपुलर वेबसाइट्स जिन पर दिन का बहुत सारा ट्रैफिक होता है उन पर CAPTCHA Code का इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि आपको जब आप रेलवे टिकट बुकिंग के लिए आईआरसीटीसी की वेबसाइट ओपन करते हैं। तो वहां पर आपको कुछ भी करने से पहले एक CAPTCHA Code फिल करने को मिलता है उस CAPTCHA को फिल करने के बाद ही आप वेबसाइट में इंटर करवाते हैं इसका उद्देश्य भी सिक्योरिटी चेक करना होता है।

आपने कई बार सुना होगा कि रेलवे की तत्काल टिकट बुकिंग में सारे के सारे टिकट कुछ ही सेकंड में बुक हो जाते हैं काउंटर खुलने से पहले ही बंद रह जाता है। तो यह सब इन्हीं boats की वजह से होता है। अगर कैप्चा सही तरीके से काम नहीं कर रहा है तो कोई हैकर उस वेबसाइट पर अटैक करके इनलीगल तरीके से सारे टिकट को बुक कर सकता है। बोट्स के माध्यम से, इसलिए जितनी भी कॉमन पब्लिक वेबसाइट होती है उन पर CAPTCHA Code आपको जरूर देखने को मिलता है।

कैप्चा कोड को इस तरीके से डिजाइन किया जाता है यानी इस तरीके से कैप्चा कोड दिया जाता है कि वह साधारण आप किसी भी तकनीकी डिवाइस द्वारा पढ़ नहीं सकते उसके लिए आपको मानव बुद्धि और आंखों की आवश्यकता होती है। इसी वजह से कोई भी कंप्यूटर उसे क्रैक नहीं पर कर पाता लेकिन आजकल बहुत सारी ऐसी तकनीकी विकसित की जा रही हैं जो कैप्चा कोड को क्रैक कर सके लेकिन अभी तक कोई ऐसी तकनीकी नहीं आई है जो बिल्कुल सही सही CAPTCHA Code को क्रैक कर सके।

कैप्चा कोड पब्लिक वेबसाइट पर लगाना आवश्यक हो जाते हैं क्योंकि हैकर्स वोट्स, वायरस के रूप में मेल करते हैं या फिर उस वेबसाइट पर अकाउंट क्रिएट करवाते हैं और फिर बाद में अटैक करके उस वेबसाइट को हैक कर लेते हैं इसलिए CAPTCHA Code लगाना आवश्यक हो जाता है जब वेबसाइट पर कैप्चा कोड इनेबल होता है तब वह मेल या वायरस वेबसाइट पर आने से पहले ही डिलीट हो जाते हैं। क्योंकि बिना कैप्चि साल्व किए वेबसाइट में प्रवेश नहीं किया जा सकता चाहे वह वेबसाइट की कोडिंग में हो या फिर उस वेबसाइट के किसी वेबपेज में।

CAPTCHA Code ना लगाने से छोटी हो या बड़ी वेबसाइट सब को भी भारी नुकसान पहुंचता है क्योंकि लोग स्पैम लिंक बनाकर वेबसाइट के कमेंट सेक्शन में या फिर मेल में भेजते हैं और धीरे-धीरे इन वेबसाइट्स पर लिंक की संख्या बहुत अधिक हो जाती है और उन वेबसाइट ओनर को बैकलिंक मिलती जाती है जिससे कि लास्ट में जिस वेबसाइट पर कमेंट किए गए हैं उसका स्पैम स्कोर बहुत अधिक बढ़ जाता है और गूगल रैंकिंग घट जाती है इसलिए वेबसाइट डेवलपर द्वारा CAPTCHA Code लगाया जाता है।

कैप्चा कोड का इस्तेमाल उन जगहो पर भी होता है जहां पर पेमेंट से संबंधित एक्टिविटी होती हैं जैसे ऑनलाइन शॉपिंग, बिल पेमेंट आदि।

CAPTCHA CODE के प्रकार

कैप्चा कोड विभिन्न प्रकार के हो सकते हैं कैप्चा कोड किस प्रकार का होगा यह वेबसाइट के ऊपर डिपेंड करता है। जिस प्रकार की आपकी वेबसाइट होगी उसी प्रकार का कैप्चा कोड उस में लगाया जाएगा। जैसे कि मान लीजिए कि पब्लिक वेबसाइट है जैसे आईआरसीटीसी जिससे ट्रेन की टिकट बुक करते हैं उस वेबसाइट पर दिखाया गया कैप्चा अंको के जोड़ घटाव से संबंधित होगा जबकि किसी दूसरी तकनीकी वेबसाइट पर दिखाया गया CAPTCHA CODE थोड़ा अलग होगा।

CAPTCHA CODE के माध्यम से रियल यूजर का वेरिफिकेशन किया जाता है कि यह वास्तविक यूजर यानी मनुष्य है। इसलिए उसको इस प्रकार से रखा जाता है कि कोई भी कम पढ़ा लिखा व्यक्ति भी कैप्चा को सॉल्व कर सके कैप्चा के प्रकार के बारे में हम आगे डिटेल में जानेंगे-

यूजर इंटरफेस आधारित कैप्चा (capture based on user interface) –

दोस्तों गूगल किसी भी टर्म को अप्लाई करने से पहले उसकी एनालिसिस करता है यूज़र इंटरफ़ेस बेस्ड कैप्चा भी इसी एनालिसिस का परिणाम है।आप जिस भी तरीके की इंटरनेट पर सर्फिंग करते हैं जिस लेवल तक की करते हैं वह सभी आपके पार्टीकूलर आईपी एड्रेस पर सेव होती है। और गूगल को पता चलता है कि यह व्यक्ति किस प्रकार का है यानी कि टेक्निकल व्यक्ति है या फिर नॉनटेक्निकल है या फिर कम पढ़ा लिखा व्यक्ति।

उसी हिसाब से CAPTCHA CODE दिखाया जाता है मान लीजिए अगर आप किसी साइट पर विजिट किए टिकट बुकिंग के लिए और वहां पर आपको कोई कठिन था CAPTCHA दिखाया जाता है तब आप निश्चय ही उस कैप्चा को नहीं सॉल्व कर पाएंगे अगर आप कम पढ़े लिखे होंगे। लेकिन अगर आप तकनीकी क्षेत्र में हैं या फिर आपका शिक्षा स्तर ऊंचा है तो आप आसानी से उसको सॉल्व कर सकते हैं। कुल मिलाकर कहें तो कैप्चा ऐसा दिखाया जाता है कि वह user-friendly हो।

सोशल मीडिया आधारित कैप्चा(capture based on social platforms)-

आपने देखा होगा कि जब आप फेसबुक या किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कोई भी अनऑथराइज्ड एक्टिविटी करने की कोशिश करते हैं जैसे कि एक साथ एक ही दिन में हजारों लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं या फिर फॉलो/अनफॉलो करते हैं। तो उस समय आपको गूगल द्वारा सोशल मीडिया आधारित CAPTCHA CODE दिखाया जाता है। इस कैप्चा में सामान्यतः फोटोस होती हैं जिन पर आपको नीचे लिखे हुए शब्द को पढ़कर उस फोटो पर क्लिक करना होता है और फोटो पहचाननी होती है।

सही फोटो सेलेक्ट करने पर आपका कैप्चा वेरीफाई होता है और आप आगे बढ़ पाते हैं तथा इससे गूगल को रियल यूजर का पता चल पाता है कि सर्फिंग कर रहा यूजर रियल है कोई वोट नहीं है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में सबसे बड़ा सोशल मीडिया सर्च इंजन फेसबुक है सोशल मीडिया बेस्ड कैप्चा फेसबुक पर दिखाया जाता है। क्योंकि फेसबुक पर प्रतिदिन लाखों की संख्या में अकाउंट बनाए जाते हैं और डिलीट किए जाते हैं इसलिए अनऑथराइज्ड एक्टिविटी को ट्रैक करने के लिए फेसबुक इस प्रकार के CAPTCHA CODE का उपयोग करता है वेरिफिकेशन के उद्देश्य से।

तार्किक प्रश्नों पर आधारित कैप्चा(capture based on logical questions)-

तार्किक प्रश्नों पर आधारित कैप्चा कोड भी पूछे जाते हैं इस प्रकार के CAPTCHA अधिकतर इस्तेमाल में नहीं आते लेकिन कुछ शिक्षा से संबंधित वेबसाइट पर इनका उपयोग किया जाता है जिसमें से आपको कुछ क्वेश्चन दिखाए जाते हैं और उनका आंसर देना होता है जो कि जर्नल एटीट्यूट से संबंधित होते हैं

Text पर आधारित कैप्चा (capture based on text)-

टेक्स्ट पर आधारित कैप्चा सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले कैप्चा होते हैं इन कैप्चा कोड में सामान्यता आपको नीचे कुछ टेक्स्ट दिखाई देते हैं और उन टेक्स्ट को आपको बगल में बने हुए बॉक्स में डालना होता है सही CAPTCHA CODE पहचान कर बॉक्स में लिखने पर आपका CAPTCHA वेरीफाई हो जाता है।

चित्र पर आधारित कैप्चा (Captcha based on Image)-

इस प्रकार के कैप्चा मे आपको एक Puzzle दिखाया जाता है जिसमें 6-7 फोटोस होती हैं जो उल्टी-सीधी टेढ़ी-मेढ़ी उपर नीचे ऐसी होती हैं अब इसमें से आपको उस पार्टिकुलर चीज की सीधी सही फोटो चुन्नी होती है इस प्रकार चित्र पर आधारित कैप्चा द्वारा रियल यूजर का वेरिफिकेशन होता है।

कैप्चा कोड को कैसे सॉल्व करें (How to solve Captcha Code)-

दोस्तों CAPTCHA CODE को केवल मानव बुद्धि द्वारा ही सॉल्व किया जा सकता है किसी भी कृत्रिम बुद्धि से CAPTCHA CODE को सॉल्व नहीं किया जा सकता । ना ही आज तक कोई ऐसी तकनीकी विकसित की जा चुकी है जिससे कैप्चा कोड को पढ़ा जा सके। चाहे वह ऑप्टिकल मार्क रीडर हो या फिर मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रीडर। किसी इंसान के लिए भले ही वह कम पढ़ा लिखा क्यों ना हो कैप्चा कोड सॉल्व करना बेहद आसान होता है। CAPTCHA CODE को सॉल्व करने के लिए सबसे पहले आप कैप्चा कोड को ध्यान से देखें और उसके लेटर को या नंबर्स को पहचानने की कोशिश करें।

जब आप उन लेटर या नंबर्स को पहचान लेंगे तो उन्हें उस बगल में बने हुए बॉक्स में लिख कर सबमिट बटन पर क्लिक कर दें अगर आपका CAPTCHA CODE सही होता है तो वह वेरीफाई हो जाएगा अगर नहीं सही होता है तो वह wrong Captcha error दे देगा। अगर आपको कैप्चा कोड समझ में नहीं आ रहा है तो बगल में बने Refresh बटन पर क्लिक करके आप दूसरा कैप्चा जनरेट कर सकते हैं.उसे देखकर भर सकते हैं और अपना वेरिफिकेशन कंप्लीट कर सकते हैं।

कैप्चा कोड का फ्यूचर क्या है

कैप्चा कोड को कभी भी खत्म नहीं किया जा सकता क्योंकि यह एक प्रकार का सिक्योरिटी फीचर है और साथ ही साथियों गूगल की भी मदद करता है रियल यूजर की पहचान करने में इसलिए इसकी आवश्यकता कभी भी समाप्त नहीं हो सकती। CAPTCHA CODE को लेकर कई सारे रिसर्च, डेवलपर द्वारा किए जा रहे हैं और हो सकता है कि भविष्य में कोई ऐसी नई टेक्नोलॉजी विकसित की जा सके जिससे कैप्चा कोड को रिप्लेस किया जा सके या फिर कहें तो कैप्चा कोड का स्वरूप बदल सकता है लेकिन CAPTCHA CODE की उपयोगिता कभी खत्म नहीं हो सकती।

जैसे से नई नई टेक्नोलॉजी आती जा रही हैं वैसे वैसे कैप्चा कोड के डिफिकल्टी लेवल को भी बढ़ाया जा रहा है क्योंकि शायद भविष्य में ऐसी कोई टेक्नोलॉजी विकसित हो जाए ऐसा कोई रीडर बना लिया जाए जो CAPTCHA CODE को भी क्रैक कर सके इसीलिए कैप्चा कोड की डिफिकल्टी को भी बढ़ाया जा रहा है।

निष्कर्ष
दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको CAPTCHA CODE क्या है? CAPTCHA CODE का फुल फॉर्म क्या होता है तथा कैप्चा कोड को कैसे सॉल्व करें के बारे में डिटेल में जानकारी दी इसके अलावा हमने आपको CAPTCHA CODE के फ्यूचर के बारे में भी बताया उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपको जरूर पसंद आया होगा और कैप्चा कोड से जुड़े आपके मन में उठ रहे सभी प्रकार के प्रश्नों के उत्तर आपको मिल गए होंगे।

यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आया है तो इसे अपने सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें जिससे लोगों को भी इस बेहतरीन जानकारी के बारे में पता चल सके।

4 COMMENTS

  1. Does your website have a contact page? I’m having problems locating it but, I’d like to send you an e-mail. I’ve got some creative ideas for your blog you might be interested in hearing. Either way, great site and I look forward to seeing it improve over time.

  2. I intended to post you this very little word to finally say thanks over again just for the splendid advice you have shared on this website. This has been so seriously open-handed of people like you to grant without restraint precisely what some people could possibly have marketed for an e-book to help make some money on their own, mostly seeing that you might well have done it in case you desired. These principles additionally worked to be a great way to know that someone else have a similar interest really like mine to know the truth a lot more in respect of this problem. I’m certain there are millions of more enjoyable times up front for people who go through your site.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here